गुरुवार, 3 अगस्त 2017

पक्षियों के संस्कृत नाम

उल्‍लू - उलूक:‚ कौशिकः
कोयल - कोकिल:, पिक:
कौआ - काक:‚ ध्वांग्सः‚ वायसः
कबूतर - कपाेत:‚ पारावकः
क्रौंच - क्रौंच:
कठफोडवा - दार्वाघाटः
गिद्ध - गृध्र:
गौरैया - चटक:
गरुण - गरुण:
चील - श्‍येन:
चमगादड - जतुका
चकोर - चका्ेर:
चकवा - चक्रवाक:
जलमुर्गी - जलकुक्‍कुटी
तीतर - तित्तिर:
तोता - शुक:‚ कीरः
नीलकंठ - नीलकण्‍ठ:‚ चाषः
पतंगा – शलभः
पपीहा – चातकः
फाख्‍ता - कपोत:
बतख - कादम्‍ब:
बटेर - वर्तकः
बुलबुल - कलापी
बाज - गरुण:
बगुला - बक:
मैना - सारिका
मुर्गी - कुक्‍कुटी
मुर्गा - कुक्‍कुट:
मोर - मयूर:‚ बर्हिन
शुतुरमुर्ग - उष्‍ट्रपक्षी
सारस - सारस:
हंस - हंस:‚ मरालः

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें