गुरुवार, 3 नवंबर 2016

चतुर्थी विभक्ति का ज्ञान

चतुर्थी विभक्ति 
१.नमः - नमस्कार करना
श्री गणेशाय नमः।
श्री गणेश को नमस्कार है।

२.स्वस्ति: - कल्याण
सर्वेभ्यः स्वस्ति।
सबका कल्याण हो।

३.स्वाहा - आहुति
अग्नये स्वाहा।
अग्नि के लिए आहुति है।

४.क्रुध - क्रोध
रामः रावणाय क्रुध्यति।
राम रावण पर क्रोध करता है।

५.द्रुह - द्रोह करना
विभीषणः रावणाय अद्रुह्यत।
विभीषण ने रावण से द्रोह किया।

६.दा - देना
अहम् निर्धनाय दानं ददामी।
मैं गरीबो को दान देती हु।

७.इर्ष्य - ईर्ष्या /जलन करना
बाली सुग्रीवाय इर्ष्यति।
बाली सुग्रीव से इर्ष्या करता है।

८.असूय  - निंदा करना
दुर्योधनः पांडवेभ्यः असुयति।
दुर्योधन पांडवो की निंदा करता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें